Follow Us @soratemplates

कैंसर एवं आतंकवाद (Cancer & Terrorism)

(चिकत्सा पद्धति द्वारा आतंकवाद पर एक सामान्य विचार)
कैंसर एवं आतंकवाद (Cancer & Terrorism):
नमस्कार मैं आचार्य चन्दन आपको आतंकवाद एवं कैसर बीमारी दोनों में समानता एवं इनमे लडने की सामान्य  विचार प्रस्तुत कर रहा हु, आज से कुछ  दिन पहले हुआ दुखद घटना के कारण इस लेख को लिख रहा हु, क्यकि आतंकवाद एक प्रकार का कैंसर है, इन सभी बिमारिओ का इलाज एक स्थायी रुप से करना होगा, जबकि हम आपको बताते है कि कैसर क्या है, कैसे ये बीमारी  सरीर को नुकशान पहुचाती है, वास्तव में कैसर एक प्रकार का इन्फेक्टेड सेल है, जों हमारे शरीर में बिना माइंड के सूचना दिये कार्य करता है, अर्थात उन कोशिकाओं का कहा जाता है जो कोशिका शरीर में रहते हुए भी शरीर को कोई पता नहीं होता है कि ये कोशिका क्या कर रहा है, ये कोशिकाएं धीरे 2 अपने जैसी अन्य कोशिकाओं का निर्माण करने लगती है जिसके कारण शरीर में कही भी ट्यूमर की उतपत्ति करने लगता है, और धीरे 2 शरीर के अन्य स्वस्थ कोशिकाओं को खराब या मारने लगती है, जब शरीर को यानि माइंड को दूसरी कोशिकाओं के दर्द से इसका पता चलता है तो माइंड एक आपतकालीन स्थिति उत्पन्न कर देता है जिससे बुखार होने का सिम्टम उत्पन्न होता है, वैसे ही हमारे भारत में जो नागरिक है वो एक प्रकार से कोशिका का रुप है जहा भारत एक शरीर है, और पाकिस्तान एक आतंकवादी किटाणुओं का देश है जिसमे सभी लोग विवस वायरस एवं किटाणु है, जो अन्य देश में किटाणु भेजते है, वैसे ही किटाणु सेल पाकिस्तान द्वारा भेंजे हमारे देश में फैले है, जो आये दिन आतंकवादी घटनाये करते रहते है, इन पाकिस्तानी किटाणुओं को डायग्नासिस करना अति आवश्यक है, इसमें सरकार एवं नागारिक दोनों को मिलकर कार्य करना चाहिए, गलत गतिविधिओ की सूचना हमारे कण्ट्रोल सिस्टम (सरकार) को दें, आज हमारे देश में आतंकवादी घटना हो रही है, पाकिस्तान के द्वारा फैलाये गऐ जीवाणुओं आतंकवादी का कारण, जो भारत रुपी शरीर के अंन्दर कैसर (आतंकवाद) फैलाने का कार्य कर रहे है, 
एक बात और कहना चाहुगा कि, अगर हमारे देश में आतंकवाद रुपी कैंसर का असर हो रहा है तो, सरकार को, सर्जिकल स्ट्राइक, नामक कैप्सूल का उपयोग नियमित करते रहना चाहिए एवं भारत के अंन्दर कैसर रुपी जीवाणु को खतम करने के लिये, Demonetization (नोटबंदी) आदि जैसी सुधिकरण (कीमो थिरैपी) का प्रयोग होना चाहिए अर्थात कीमोथिरेपी से सरीर के अन्य कोशिकाओ को भी दर्द होता है, उसी प्रकार Demonetization (नोटबंदी) से भारत रुपी शरीर के अन्य कोशिकाओं (नागरिक) को कुछ दर्द जरुर हुआ है, चुकी इस थेरेपी पूरा लाभ नहीं मिला हो, लेकिन भारत सरकार को इस प्रकार के अन्य प्रक्रिया अपनाना चाहिए जिससे कुछ वर्षो बाद ऐसी आतंकवाद जैसी समस्या समाप्त हो जाएगी, इस प्रकार आइये हम सब मिलकर, सरकार द्वारा हो रहे कदम का मिलके सहयोग करे एवं आतंकवाद रुपी कैसर को जड से मिटाने में मदद करे…………….जय हिन्द जय भारत। 

जरुरी लिंक्स:
  • हमसे संपर्क करने के लिये हमे लिखे: Contact Us
  • हमारे बारे में पूरी जानकारी प्राप्त करने के लिये क्लिक करे: About Us
  • हमारे ईकॉमर्स वेबसाइट पर ऑनलाइन आयुर्वेदिक दवा खरीदने के लिये क्लीक करे: https://sonaayurveda.com
  • उपचार सलाह प्राप्त करने और चैट करने के लिये हमारे फेसबुक पेज को लाइक करे: https://fb.com/sonaayurveda
  • हमारी विडिओ देखने के लिये हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करे: https://youtube.com/c/sonaayurveda